February 25, 2021

खुलासा मीडिया

ख़बर की तह तक

पूर्वी चम्पारण के कुंदवा चैनपुर सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में 9 आरोपियों ने किया सरेंडर

मोतिहारी से अरविन्द कुमार

पूर्वी चम्पारण जिले के कुंडवा चैनपुर थाना क्षेत्र में नेपाल की नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के बाद साक्ष्य मिटाने के लिए शव जलाने के मामले में फरार नौ आरोपियों ने सरेंडर कर दिया है. मोतीहारी स्थित सिकरहना एसीजेएम 5 के कोर्ट में सभी आरोपियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है .
आपको बता दें की पूर्वी चंपारण के कुंडवा चैनपुर थाना क्षेत्र में नेपाली नाइट गार्ड की नाबालिग बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के बाद साक्ष्य मिटाने के लिए शव जलाने के मामले में फरार चल रहे 9 आरोपियों ने शनिवार को कोर्ट में पुलिस की दवाब में सरेंडर कर दिया. सिकरहना एसीजेएम 5 के कोर्ट में 12 आरोपियों में से नौ आरोपियों ने समर्पण किया. इन आरोपियों के घर पर कोर्ट के आदेश से इश्तिहार चस्पा कर 24 घंटे में हाजिर होने के लिए कहा गया था. एसपी नवीन चंद्र झा के अनुसार 3 अन्य फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है. उन्होंने बताया कि कोर्ट में समर्पण करने वाले आरोपियों को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा.
दरअसल ,एसीजेएम 5 सिकरहना के कोर्ट में समर्पण करने वाले आरोपियों में दीपक कुमार साह, जयप्रकाश साह, मिलन साह, रमेश साह, उमेश साह, अजय साह, सुनील साह, अवनीश कुमार और हरिकिशोर साह शामिल हैं. एक मुख्य आरोपी देवेंद्र साह अभी फरार है, जबकि अप्राथमिकी अभियुक्त तत्कालिन निलंबित थानाध्यक्ष संजीव कुमार भी फरार चर रहे हैं. इस मामले में कुल 14 आरोपी हैं, जिसमें 3 पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.

गौरतलब है कि कुंडवाचैनपुर थाना क्षेत्र में 21 जनवरी को नेपाल की नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी गई थी. स्थानीय थानाध्यक्ष संजीव रंजन की मिलीभगत से मृतक के शव को बिना एफआईआर और पोस्टमार्टम के जला दिया गया था. इस मामले में मृतका के पिता ने घटना के 13 दिन बाद एफआईआर के लिए आवेदन देकर 11 लोगों को आरोपित किया था. आरोपितों में से दो लोगों की गिरफ्तारी पूर्व में हो चुकी है.