February 25, 2021

खुलासा मीडिया

ख़बर की तह तक

सोनी को मानव तस्करों ने तीन बार बाज़ार में बेच दिया था

जहानाबाद से मुकेश कुमार की रिपोर्ट

दिखने में सुंदर थी तो अरमान काफी ऊँचे थे … बेटी के अरमान को पुरे करने के लिए सोनी कुमारी को परिवार ने जहानाबाद शहर में रखना शुरू किया … अपनी सुंदर बहन को पढ़ाने में भाई लालू बाबू ने कोई कोर कसर बांकी नहीं रखना चाहता था … भाई की इच्छा थी की बहन पढ़ ले तो उसकी शादी अपने से बड़े घर में करा देंगे ताकि बहन रानी बनकर राज करे पर यह खवाब तब अधूरा रह गया जब सोनी पर वूमेन ट्रैफिकिंग गिरोह की नज़र पर गयी और सोनी के सारे सपने चकनाचूर हो गया. सोनी गायब हो गयी … माँ पिता से लेकर भाई तक परेशान हो गए और सोनी का कोई पता नहीं चल पाया . सोनी की खोज के परिजनों ने पुलिस की शरण ली और 11 जून 2018 को जहानाबाद नगर थाना में इस मामले की प्राथमिकी दर्ज कराई गयी . पुलिस ने प्रारम्भिक जांच के बाद इस मामले को प्रेम प्रसंग का मामला बता कर परिजनों को अपने स्तर पर तलाश करने की सलाह दी . इसके बाद से लेकर लगातार सोनी के परिजन तलाश में जुटे रहे. लेकिन सोनी का कोई पता नहीं चला.लेकिन अचानक चार दिन पहले सोनी के भाई के मोबाइल पर एक नंबर से आई एक कॉल ने पुरे परिवार के सामने सोनी के मिलने की आस जगा दिया ….
आपको बता दें की तीन साल पहले जून 18 में वूमेन ट्रैफिकिंग के गिरोह में फंसी जहानाबाद के नगर थाना इलाके के गांधी मैदान में किराए के घर में रहने वाली सोनी को उसके अपनों ने ही सब्ज़बाग दिखा कर घर से अगवा कर लिया था और उसको तीन बार बेचा और जब सोनी को मौक़ा मिला तो उसने अपने घर फोन किया और फिर जहानाबाद पुलिस की सक्रियता से उसे राजस्थान के दौसा से बरामद कर लिया गया . सोनी की वापसी की खबर से जहानाबाद में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी और उसको वापस आते ही देखने वालो की भीड़ नगर थाना परिसर में लग गयी .हर कोई सोनी से मिलना चाहता था … हर कोई उसके दर्द की दास्तान सुनना चाहता था की आखिर समाज में फैले दरिंदो ने उसके साथ क्या किया … कितनी बार उसके जिस्म का बाज़ार सजाया गया … और उसके परिजन कोस रहे थे उन लोंगो को जिन्होंने महज चंद सिक्को की खातिर बाली उम्र में ही उसे दलालों और मानव तस्करों के हाथों इसे बेच दिया .
अपने गोद मे बच्चे के उठाये हुए यही सोनी है … वह मजबूर लड़की है जो अपने सहेली के कुचक्र में ऐसे फंसी की सोनी के सारे सपने शीशे की तरह चकनाचूर हो गये. बेहतर भविष्य का सपना बुनने वाली सोनी को अपने ही मोहल्ले के कुछ जानने वाले लड़को ने बेहोश कर उसे मानव तस्करों को बेच दिया था . उस दिन से लगातार सजाते रहे सोनी के लिए बाज़ार दरिंदो के खातिर … और सोनी तार तार होती रही …सोनी बिकती रही …
सोनी ने बताया की उसे नोएडा के बाद हरिद्वार और राजस्थान में भी बेचा गया, इस बीच बिन ब्याहे वो दो बच्चों की मां भी बन गयी… रूह को कंपा देने वाली इस ज़िंदगी से परेशान सोनी को जब एक मोबाइल मिला और उसने अपने मेमोरी के आधार पर भाई को फोन किया तो उसकी रिहाई का रास्ता खुल गया .पुलिस ने लोकेशन प्राप्त कर राजस्थान के दौसा ज़िले के एक घर मे राजस्थान पुलिस के सहयोग से छापेमारी की. जहाँ से सोनी को दो बच्चे के साथ बरामद कर जहानाबाद लाया गया .
अब इस मामले में पुलिस सोनी का कोर्ट में 164का बयान करने की तैयारी में है ताकि उसके बाद आरोपितों के खिलाफ कड़ी कारवाई की जा सके .