April 13, 2021

खुलासा मीडिया

ख़बर की तह तक

सीतामढ़ी के मेजरगंज में दरोगा हत्याकांड में सीसीटीवी से सामने आया कई सच

सीतामढ़ी से चन्दन देव की रिपोर्ट

बिहार के सीतामढ़ी में शराब कारोबारियों के हाथों शहीद हुए दरोगा दिनेश राम हत्याकांड में सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद स्थानीय पुलिस की भूमिका संदिग्ध बन गई है। लगभग पौने दो मिनट के इस सीसीटीवी से जो सवाल खड़े हो रहे हैं वह पुलिस के मेजरगंज के थाना प्रभारी की भूमिका को संदिग्ध बना रही है .दरअसल सीसीटीवी में साफ नजर आ रहा है कि शहीद दरोगा अकेल नही बल्कि उनके साथ मेजरगंज थानाध्यक्ष समेत अन्य पदाधिकारी और पुलिस फोर्स 24 फ़रवरी को शराब तस्कर के खिलाफ कारवाई के लिए कुंवारी गाँव गए थे और जहाँ दारोगा दिनेश राम अपराधियों की गोली से मारे गए और वहाँ मौजूद पुलिस बल और अधिकारी अपनी ओर से अपराधियों पर एक राउंड भी फायर नहीं किये.

यह सीसीटीवी घटना के दिन सुबह 11:59 मिनट की है. जिसमें बाइक पर सवार होकर शहीद दरोगा दिनेश राम, जख्मी चौकीदार लालबाबू पासवान के साथ आगे जा रहे है, वही ठीक उनके पीछे दूसरे बाइक पर दरोगा रजा अहमद एक अन्य चौकीदार के साथ जा रहे हैं. वही सीसीटीवी टाइमिंग के अनुसार एक मिनट के अंदर ही बाइक से जाते दारोगा के पीछे पीछे मेजरगंज थाने की वाहन भी जाती दिखाई दे रही है. सीसीटीवी फुटेज आने के बाद से कई राज खुलने की संभावना जताई जा रही है. साथ ही मेजरगंज थानेदार की भूमिका भी संदिग्ध दिख रही है. हालांकि जानकारी के मुताबिक़ दारोगा राजा अहमद से पूछताछ की जा रही है .

सीसीटीवी टाइमिंग को देखें तो शहीद दरोगा और थाने का पुलिस दल एक साथ छापेमारी के लिए निकला है, जो वीडियो सामने आया है सीसीटीवी दिन के सुबह 11:59:38 की है इसमें शहीद दरोगा दिनेश राम चौकीदार के साथ जाते दिख रहे हैं. वही ठीक उसके पीछे 12:00:09 की टाइमिंग पर मेजरगंज थाने की गाड़ी भी उसी रास्ते से गुजरती हुई दिख रही है. जिससे साफ होता है कि शहीद दरोगा दिनेश राम के साथ मेजरगंज थानाध्यक्ष और पूरी पुलिस फोर्स थी. अब आपको इस सीसीटीवी फुटेज के बारे में बता दे की सीसीटीवी वीडियो घटना स्थल से महज 1 किलोमीटर पहले और थाने से आधा किलोमीटर की दूरी की है.

सूत्रों की माने तो थाना के वाहन में मेजरगंज थानाध्यक्ष रामदेव प्रसाद मौजूद थे. लेकिन जो बात सामने आई उसमें यह बताया गया कि दारोगा दिनेश राम और रजा अहमद बाइक से छापेमारी के लिए गए थे. लेकिन सीसीटीवी में थाने का वाहन भी जाता दिख रहा है. जबकि पुलिस के बयान में ऐसी किसी बात का जिक्र ही नही किया गया. जिसके कारण थानाध्यक्ष की भूमिका संदिग्ध दिख रही है.

पुलिस का जो बयान आया उससे यह स्पष्ट हो रहा है कि पुलिस की ओर से कोई जवाबी कार्रवाई नहीं की गई. इसका मतलब दारोगा दिनेश राम को जब गोली मारी गई तो वहां पर मौजूद किसी पुलिसकर्मी ने जवाबी कारवाई नहीं की, इस पूरे मामले को लेकर सब इंस्पेक्टर राजा अहमद से भी पूछताछ की जा रही है, जो शहीद दरोगा के पीछे दूसरे बाईक पर नज़र आ रहे है.

सीसीटीवी के अनुसार मेजरगंज थाने की गाड़ी भी घटना स्थल की ओर कूच कर रही है तो अब सवाल यह खड़ा होता है कि क्या थाना अध्यक्ष रामदेव प्रसाद और अन्य पुलिसकर्मियों के समक्ष दरोगा दिनेश राम को अपराधियों ने भून दिया और मौजूद पुलिसकर्मी तमाशबीन बनकर सहित दरोगा दिनेश राम के मौत का तमाशा देखते रहे.

आप हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब कीजिये और देखते रहिये खुलासा. आप हमें खबर भी भेज सकते है हमारे नंबर पर. नंबर है -06127966001

Follow us on Social Network :
https://www.youtube.com/c/खुलासा​
https://www.khulasamedia.com​
https://www.facebook.com/khulasamedia​
https://www.twitter.com/khulasamedia

Breaking News : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, बिहार के सभी स्कूल एक सप्ताह और बंद रहेंगे : सभी दूकान और प्रतिष्ठान शाम सात बजे तक ही खुलेंगे
Breaking News : 30अप्रैल तक सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे सरकारी कार्यालयों में ग्रुप ग और ग्रुप घ के 33 प्रतिशत कर्मी ही कार्यालय आएंगे
Breaking News : सभी दुकान और प्रतिष्ठान शाम 7 बजे तक ही खुलेंगे , कोविड के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य
Breaking News : कोरोना को लेकर सर्वदलीय बैठक करने का निर्णय राज्यपाल बुलाएंगे सर्वदलीय बैठक
Breaking News : पब्लिक ट्रांसपोर्ट में 50 प्रतिशत सीटों पर ही यात्रा कर सकेंगे , निजी कार्यालयों में भी 35 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश